logo

सुरक्षा जाल

येशू की ओर परिवर्तित होना उस व्यक्ती की तरह हैं जो जमीन से बहुत ऊंचाई पर एक रेखा पर चलता हैं ( उदा. सर्कस में टाइट रोप वॉकर ), और फिर नीचे एक सुरक्षा जाल बिछाने का निर्णय लेता हैं। उस जाल के बिना नीचे गिरना एक आपदा होगी। सुरक्षा जाल बिछाया होने के कारण फिसलने और नीचे गिरने पर वह व्यक्ती घायल नहीं होगा, बल्कि जाल के कारण बच जाएगा। और वह तो केवल फिरसे ऊठ खडे होने और फिरसे शुरू होने की ही बात हैं।

येशू वह सुरक्षा जाल हैं और उस जाल की शक्ती कोई भी नहीं तोड सकता।

bilde

"और व्यवस्था बीच में आ गई, कि अपराध बहुत हो, परन्तु जहां पाप बहुत हुआ, वहां अनुग्रह उस से भी कहीं अधिक हुआ।"(रोमियो 5, 20)

"सो अब जो मसीह यीशु में हैं, उन पर दण्ड की आज्ञा नहीं: क्योंकि वे शरीर के अनुसार नहीं वरन आत्मा के अनुसार चलते हैं।" (रोमियो 8, 1)

लेकिन, जाल के बिना, येशू के बिना, एक व्यक्ती ने किया हुआ हर एक पाप और गलती की गिनती जिस दिन भगवान सभी मानव वंश का न्याय करता हैं, उस ईश्वरीय निर्णय के दिन, की जाएगी। बाइबल के अनुसार, इसका परिणाम यह होगा कि, आप भगवान का प्रेम और उसके राज्य से सनातन रूप से अलग हो जाओगे;

"और मै तुम से कहता हूं, कि जो जो निकम्मी बातें मनुष्य कहेंगे, न्याय के दिन हर एक बात का लेखा देंगे।" (मत्ती 12, 36)

"और सृष्टि की कोई वस्तु उस से छिपी नहीं है वरन जिस से हमें काम है, उस की आंखों के साम्हने सब वस्तुएं खुली और बेपरदा हैं॥"(इब्रानियों 4, 13)

"जो पुत्र पर विश्वास करता है, अनन्त जीवन उसका है; परन्तु जो पुत्र की नहीं मानता, वह जीवन को नहीं देखेगा, परन्तु परमेश्वर का क्रोध उस पर रहता है॥" (यूहनना 3, 36)

"और यह अनन्त दण्ड भोगेंगे परन्तु धर्मी अनन्त जीवन में प्रवेश करेंगे।" (मत्ती 25, 46)