logo

ख्रिस्ती होना

येशू को रक्षक मानना एक व्यक्ती को सौ फिसदी न्याय देता हैं। भगवान को आपसे क्या चाहिए, येशू के बलिदान के द्वारा उसने अपने आपको ही एक मुफ्त उपहार के रूप में तुम्हें सौपा हैं।

लेकिन यह भी भगवान की ही इच्छा हैं कि, जो ख्रिस्ती बन गया वह गलत से दूर होकर, और ज्यादा से ज्यादा येशू की तरह बनकर सुधार और प्रगती करेगा ; न्याय मिलने और बचने हेतु नहीं, कारण आप वह अपने आप ही प्राप्त नहीं कर सकते, और एक ख्रिस्ती होने के नाते आपको पहले से ही यह एक मुफ्त उपहार के स्वरूप दिया गया हैं। बल्कि आप योग्य न होते हुए भी आपको बचाया गया हैं इस कारण, भगवान और येशू के प्रति कृतज्ञता की भावना से।

bilde

प्रगती करने के लिए एक ख्रिस्ती होने के नाते, आपको लगेगा दो कदम आगे और एक कदम पिछे, और कभी कभी दो कदम पिछे और एक कदम आगे बढना। महत्वपूर्ण बात यह हैं कि हमेशा येशू के निकट रहना और उससे कुछ भी छिपाने की कभी कोशिश ना करना। अगर आपने कोई बात की हैं जो आपको गलत लगती हैं, तो वह कबूल करें और उससे क्षमा माँगे। येशू आपका सुरक्षा जाल होगा। और जब तक आप जीवित हैं, आपको उसकी जरूरत रहेगी।

‘‘फिर हम क्या कहें? क्या हम उसी पाप में कायम रहे, जिसे विपुल कृपा रहे? निश्चित रूप से नहीं’’…’’ पाप का आपके ऊपर प्राबल्य ना हो, क्योंकि आप कानून के अधिन नहीं, बल्कि कृपा के अधिन हो‘’ (रोमन्स 6, 1 और 14)

येशू ने कहा; "मैं दाखलता हूं: तुम डालियां हो; जो मुझ में बना रहता है, और मैं उस में, वह बहुत फल फलता है, क्योंकि मुझ से अलग होकर तुम कुछ भी नहीं कर सकते।" (यूहनना 15,5)

"यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है।" (1 यूहनना 1, 9)

हम तीव्रता से यह सिफारीश करते हैं कि, अपने स्थानिय क्षेत्र में आप भी एक अच्छे ख्रिस्ती सभा/ चर्च का हिस्सा बनें; अन्य ख्रिस्तीयों के साथ साहचर्य बनायें, भगवान का शब्द एक दूसरे से बाँटे, समागम करें, आदि।

अगर आपको बपतिस्मा नहीं दिया गया हैं तो हम जोर से सिफारीश करते हैं कि आप ख्रिस्ती धर्मगुरू या ख्रिस्ती धर्मसभा से संपर्क करें और प्रभू येशू के नाम से बपतिस्मा लें।

जैसे बाइबल कहता हैं:"पछताओ, और आपमें से सभी अपने पापों का प्रायश्चित्त करने के लिए येशू ख्रिस्त के नाम से बपतिस्मा लें; और आपको पवित्र आत्मा की भेंट मिलेगी।’’ (द एक्ट 2, 38)